About Swan in Hindi – हंस के बारे में रोचक तथ्य

About Swan in Hindi

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं हंस पक्षी के बारे में। जिसे पक्षी प्रजातियों में सबसे श्रेष्ठ प्रजाति माना जाता है। इसके अलावा भी हंस माता सरस्वती का वाहन है। हंस बतक से मिलते जुलते जलियां पक्षी होते हैं। तो चलिए अब इसके बारे में विस्तार से जान लिया जाए।

Information About Swan in Hindi

हंस को प्रेम और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है। हंस जल में रहने वाला एक बहुत ही खूबसूरत पक्षी होती है। जो की अन्य पक्षियों से बहुत बड़ा भी होता है। पूरे विश्व में हंस की 7 से भी अधिक प्रजातियां पाई जाती है। हंस को अधिकतर सफेद और काले रंग में ही पाए जाते हैं। हंस के पंख बहुत ही मुलायम होते हैं, और उनका व्यास लगभग 3.1 मीटर तक हो सकता है। हंस की गर्दन पतली और लंबी होती है। हंस की औसत आयु 10 वर्षों तक ही होती है। और इसका अधिकतम वजन 12 किलो तक हो सकता है ! हंस स्वभाव से बहुत ही शर्मीली होते हैं । जिस कारण मनुष्य अगर इसके नजदीक में आए तो वह दूर भाग जाते हैं।

About Swan in Hindi

Science and Technology Essay in Hindi | Speech on Beti Bachao Beti Padhao in Hindi | Essay on Demonetisation in Hindi

Essay on Swan in Hindi Language

हंस एक बहुत ही अच्छे पक्षी होता है। इसकी कई प्रजातियां पाई जाती है। देशभर में इसके रंग भी अलग अलग प्रकार के पाए जाते हैं ! हंस की चोंच ज्यादातर लाल रंग के पाए जाते हैं, और तो और इसके बड़े-बड़े पंख भी होते हैं। हंस को ज्यादातर तालाबों में, नदियों में और लहरों में पाया जाता है। हंस सर्वाहारी होते हैं जैसे कि यह बीज, बेरी, कीड़े मकोड़े, और छोटे-छोटे मछलियों को खाते हैं। हंस का मुंह और आंखें उसके शरीर के मुताबिक काफी छोटी होती है। हंस के पैर झाली दार होते हैं जिसमें उन्हें तैरने में सहायता मिलती है। हंस के दांत नहीं होते हैं और इनकी चोंच की बात की जाए तो लाल रंग के अलावा भी नारंगी, केसरी आदि विभिन्न रंगों के पाए जाते हैं।

हंस और हंसिनी जब साथ में विचरण करते हैं तो लोगों को बहुत ही भाता है। हंस और हंसिनी एक साथ विचरण करते समय बहुत ही खूबसूरत लगते हैं। कई तरह के कथाओं में भी हंस के बारे में बताया गया है। लोगों का कहना है कि अगर हंस और हंसिनी में से किसी एक की भी मृत्यु हो जाती है तो हंस या हंसिनी अपना पूरा जीवन अकेले में ही बिता देते हैं। वह जीवन भर सिर्फ एक ही साथी बनाता है। कहते हैं कि इस पक्षी में दूध और पानी को अलग करने की भी क्षमता होती है।

हंस को सरस्वती मां का वाहन भी कहां जाता है। यह सुख और समृद्धि का प्रतीक होती है। मादा हंस एक समय में 5-7 अंडे देती है ! वह सरवर के झाड़ियों के बीच में अंडे देती है। और अंडों की ऊपर ही बैठी रहती है ! हंस के बच्चे अंडे में से 35 से 40 दिन में ही बाहर आ जाती है। हंस की हत्या हिंदू धर्म मैं बहुत बड़ा पाप माना जाता है। हंस कभी भी किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचाते हैं, लेकिन यदि कोई उन्हें हानि पहुंचाए तो यह उसका पीछा करता रहता है, और उसे काट देता है।

हंस के बारे में यह बात प्रचलित है की इसका मूल निवास स्थान कैलाश पर्वत के पास स्थित मानसरोवर मैं है। और वे वहां मोती चुभते है ! पर वैज्ञानिक इस बात की पुष्टि नहीं करती है।

Amazing Facts About Swan in Hindi ( Hans Bird )

1) हंस (अंग्रेजी : swan ) एक पक्षी है।

2) हंस पक्षी को प्यार और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है।

3) भारतीय साहित्य में इसे बहुत विवेकी पक्षी माना जाता है।

4) ऐसा विश्वास है कि य नीर खीर विवेक से युक्त होता है।

5) इस पक्षी को दांपत्य जीवन के लिए आदर्श माना जाता है।

6) जब कोई व्यक्ति सिद्ध हो जाता है, तब उसे कहते हैं कि इसने हंस पद प्राप्त कर लिया है।

7) जब कोई व्यक्ति समाधि स्थ हो जाता है तो कहते हैं कि वह परमहंस हो गया है।

8) यह पक्षी अपना ज्यादातर समय मानसरोवर में ही बिताते हैं इसके अलावा भी किसी एकांत झील या समुद्र के किनारे में भी समय बिताना पसंद करता है।

9) हिंदू धर्म में हंस को मारना अर्थात पिता, देवता और गुरु को मारने के समान माना जाता है।

10) आध्यात्मिक दृष्टि मनुष्य के नी: स्वास मैं ‘ हं ‘ और स्वास में ‘ स’ ध्वनि सुनाई पड़ती है।

हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा लिखा गया About Swan in Hindi पर य निबंध पर कर आपको जरूर पसंद आया होगा। इसी प्रकार से ( About Swan in Hindi )  हम आपको और भी नए-नए वस्तुओं के ऊपर निबंध देने की आशा करते हैं।

धन्यवाद –

About Shosti Dey

This is Shosti Dey a professional Hindi content writer and I like to write about health, fitness, social etc,

View all posts by Shosti Dey →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *