Importance of Discipline in Hindi – अनुशासन पर निबंध Anushasan Ka Mahatva

प्रत्येक व्यक्ति के लिए खुशहाल और सफल जीवन जीने के लिए अनुशासन होना बहुत ही जरूरी होती है। अनुशासन का अर्थ होता है नियमों का सही से पालन करना। हर एक व्यक्ति के जीवन में अनुशासन का एक विशेष महत्व होता है। जो इंसान अनुशासन में नहीं रह सकता वह जीवन का निर्माण कभी नहीं कर सकता है। अनुशासन एक ऐसा गुण है जिस गुण का प्रत्येक मनुष्य के अपने जीवन में हर एक क्षेत्र पर जरूरत पड़ती रहती है। तो चलिए अब जानते हैं कि अनुशासन क्या है, और अनुशासन में रहने के फायदे क्या होता है।

Anushasan Ka Mahatva in Hindi (Vidyarthi aur Anushasan)

हर एक के जीवन में अनुशासन सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है। बिना अनुशासन के कोई भी एक व्यक्ति खुशहाल जीवन नहीं जी सकता है। कुछ नियमों और कार्दो के साथ जीवन जीने का यह एक बेहतर तरीका है। अनुशासन ही सब कुछ है जो हम सही समय पर सही तरीके से करते हैं। यह हमें सही राह पर ले जाता है ! हमें हर समय अनुशासन का पालन करना चाहिए और वह चाहे स्कूल हो, घर हो, कार्यालय , संस्थान, फैक्ट्री, खेल का मैदान, युद्ध का मैदान, या दूसरी जगह हो। ये खुशहाल और शांतिपूर्ण जीवन जीने की सबसे बड़ी जरूरत है। यह हमें ढेर सारे बड़े मौके भी देते हैं, अनुशासन जीवन में सही बातें सिखाती है।

अनुशासन से कम समय में ज्यादा अनुभव मिलता है। दूसरी और देखा जाए तो अनुशासन की कमी की वजह से ढेर सारी दुविधा और गड़बड़ी की भी संभावना होती है। अनुशासनहीनता की वजह से जीवन में शांति और प्रगति के बजाएं ढेर सारी परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। जो लोग अनुशासन हीन होते हैं वे अपने जीवन में बहुत सारी समस्याओं को जलते हैं। साथ ही मिराज भी होते हैं। इसी कारण हमें अपने जीवन में अनुशासन के महत्व को समझना चाहिए।

About Moon in Hindi | About Hen in Hindi | About Deer in Hindi

Discipline Essay in Hindi in 200 – 300 Words

अनुशासन मानव जीवन का सबसे जरूरी अंग होता है। मानव को अपने जीवन में अनुशासन का पालन करना पड़ता है। अनुशासन एक ऐसी क्रिया है जो अपने शरीर, दिमाग और आत्मा को नियंत्रित करता है। और परिवार के बढ़ो, शिक्षकों और माता पिता की आज्ञा को मानने के द्वारा सभी कार्य को सही तरीके से करने में मदद करता है। अनुशासन का पालन करके ही प्रगति की जा सकती है। यह एक ऐसी क्रिया है जो अनुशासन में रहकर हर नियम कानून को मानने के लिए हमारे दिमाग को तैयार करती रहती है ! हम अपने दैनिक जीवन में सभी प्राकृतिक संसाधनों में वास्तविक अनुशासन के उदाहरण को देख पाते हैं ! जैसे कि सूरज और चांद का सही समय पर उगना एवं अस्त होना, सुबह और शाम को अपने सही समय पर आना और जाना। इसके अलावा और भी कई सारी चीजें, जैसे की नदियां हमेशा बहती है, अभिभावक हमेशा प्यार करते हैं, शिक्षक हमेशा शिक्षा देते हैं , और भी बहुत सारे चीजों में अनुशासन को अंतर्गत किए जाते हैं।

हमें हमेशा अपने शिक्षक, अभिभावक और बड़ों की बातों को मानना चाहिए। उनकी सफलता एवं असफलता से हमें कई सारी बातें भी सीखने को मिलती है। जब भी हम किसी चीज को गहराई से देखना और समझना शुरू कर देते हैं, तो य हमें जीवन में एक महत्वपूर्ण सीख देता है। अगर देखा जाए तो हमे यह लगता है कि अनुशासन पर चलना थोड़ा मुश्किल है, परंतु अगर आप अपने मन को थाम ले और अनुशासन को मानकर चलने लगे, तभी आपको पता चलता है कि इस पर चलने के बाद इस से मिलने वाला फल बहुत ही स्वादिष्ट होता है। यह वह डोर होती है जो हमें आकाश की बुलंदियों को छूने में मदद करती है। जैसे कि डोर के बिना पतंग आसमान में उड़ नहीं सकती उसी तरह से अनुशासन के बिना हम कभी सफल नहीं हो सकते हैं।

Importance of Discipline in Hindi

जो लोग अपने जिंदगी में सफलता की बुलंदियों को छूते हैं वह हमेशा ही अनुशासन में रहकर अपना कार्य करते हैं, यह कैसी कर्वी दवा है जिसका सामना करके ही हम सभी कामयाब बन सकते हैं। जहां अनुशासन नहीं वहां जीवन नहीं होती है। जैसे कि सूर्य का समय पर उगना मौसमों का बदलना आदि , अगर इन सभी ने अपना अनुशासन तोड़ दे तो हमारी पृथ्वी जीने लायक नहीं रहेगी, इसीलिए हमें अनुशासन को मानकर चलना चाहिए, जिस वजह से हम बिना किसी मुश्किल से अपने जिंदगी जी सकते हैं। अनुशासन में रहकर ही मन के अंदर धैर्य और समझदारी का विकास होता है ! आज हमारे समाज में अनुशासन की सख्त जरूरत है, क्योंकि यह जीवन के विकास का एक महत्वपूर्ण तत्व होती है।

Essay on Discipline in Hindi in 500 Words

समाज की सहायता के बिना मानव जीवन का अस्तित्व असंभव होता है। सामाजिक जीवन को सुख संपन्न बनाने के लिए कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है। इन नियमों को हम सामाजिक जीवन के नियम कहते हैं। इसके अंतर्गत ही मनुष्य व्यक्तिगत एवं सामूहिक रूप से नियमित रहता है इसी प्रकार के जीवन को ही अनुशासित जीवन कहा जाता है।

अनुशासन कुछ ऐसे हैं जो सभी को अच्छे से नियंत्रित करके रखता है। यह व्यक्ति को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और सफल बनाता है। हम मैं से हर एक ने अपने जीवन में समझदारी और जरूरत के अनुसार ही अनुशासन को अलग अलग तरीके से अनुभव किए हैं। जीवन में सही रास्ते पर चलने के लिए हर एक व्यक्ति में अनुशासन की बहुत जरूरत पड़ती है। अनुशासन के बिना जीवन बिल्कुल ही निष्क्रिय और निरर्थक हो जाता है। तब कुछ भी योजना के अनुसार नहीं होता है, अगर हमें किसी भी प्रोजेक्ट को पूरा करने के बारे में अपनी योजना को लागू करना हो तो सबसे पहले हमें अनुशासन पर रहना पड़ेगा। देखा जाए तो अनुशासन दो प्रकार के होते हैं, एक वह जो हमें बाहरी समाज से मिलता है, हालांकि कोई बार हमें किसी प्रभावशाली व्यक्ति से भी अपने स्व- अनुशासन आदतों में सुधार करने के लिए भी प्रेरणा की जरूरत पड़ती है।

Importance of Discipline in Hindi

हमारे जीवन के कई पड़ाव पर एवं बहुत से रास्तों पर हमें अनुशासन की जरूरत पड़ती रहती है! इसलिए बचपन से ही अनुशासन का अभ्यास करना चाहिए।  जिस कारण भविष्य में इसके सही फल प्राप्त होता है। स्व- अनुशासन का सभी व्यक्तियों के लिए अलग- अलग अर्थ होता है! जैसे कि विद्यार्थियों के लिए इसका मतलब है सही समय पर एकाग्रता के साथ पढ़ना और दिए गए कार्य को पूरा करना। हालांकि काम करने वाले इंसान के लिए सुबह जल्दी उठना, व्यायाम करना, समय पर कार्यालय जाना और ऑफिस के कार्य को ठीक ढंग से कड़ना आदि। हर एक व्यक्ति में स्व- अनुशासन की बहुत जरूरत होती है। क्योंकि आज के आधुनिक समय में किसी को भी दूसरों को अनुशासन के लिए प्रेरित करने का समय नहीं होता है। बिना अनुशासन के कोई भी अपने जीवन में असफलता को ही प्राप्त कर सकता है, अनुशासन के बिना कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में कभी भी किसी तरह के कार्य करके खुश नहीं मना सकता है।

अनुशासन की जरूरत हर क्षेत्र में होती है। इसीलिए अभिभावक को भी अनुशासन को विकसित करने की जरूरत होती है। क्योंकि उसी से वह अपने बच्चों को एक अच्छा अनुशासन सिखा सकता है। उन्हें हर समय अपने बच्चों को प्रेरित करते रहने की जरूरत पड़ती है जिससे वह दूसरों से अच्छा व्यवहार करें और हर कार्य को सही समय पर करें। प्रकृति के अनुसार अनुशासन को ग्रहण करने की सभी व्यक्ति का अलग समय और क्षमता होती है। इसीलिए, कभी हार मत मानना चाहिए, और लगातार प्रयास करते रहना चाहिए अनुशासन में रहने का। छोटे-छोटे कदमों से ही बड़ी मंजिलें हासिल किए जा सकती है।

Importance of Discipline in Hindi ( अनुशासन का महत्व )

इसका मतलब है कि समस्या पैदा होने से पहले ही उसकी वजह को मिटा देना। अनुशासन कोई ऐसी चीज नहीं है जो हम दूसरों के लिए करते हैं बल्कि यह एक ऐसी चीज है, जिसे हम उन लोगों के लिए करते हैं जो इसकी परवाह करता है।

हर घर में अनुशासन का पालन किया जाए तो, युवाओं द्वारा किए जाने वाला अपराधों में 90% तक की कमी भी शायद आ सकती है। अच्छे मां-बाप अनुशासन लागू करने से हिचकते नहीं, भले ही बच्चे कुछ देर के लिए उन्हें नापसंद करें।

विद्यार्थियों का मन चंचल और शरारती होता है। अनुशासन उनके चंचल मन को स्थिर करता है। यो स्थिरता उन्हें जीवन के संघर्षों में अवश्यक्या आगे बढ़ने में सहायता करती है। यह सब अनुशासन के कारण ही संभव हो पाता है।

अनुशासन प्यार के इजहार का एक तरीका है इसलिए कई बार हमको किसी के भलाई करने के लिए उस पर सख्त हनी पड़ती है।

तो दोस्तों आपको अनुशासन में रहने के फायदे परकर कैसा लगा (Importance of Discipline in Hindi)। आप हमें कमेंट के माध्यम से अपने विचारों को अवश्य बताएं। (Importance of Discipline in Hindi)

धन्यवाद –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *